Written by 1:07 pm India Views: 109

चक्रवाती तूफान यास से समुद्र में 4 फीट ऊंची लहरें उठने का खतरा, बंगाल-ओडिशा में देगा दस्तक

चक्रवाती तूफान यास से समुद्र में 4 फीट ऊंची लहरें उठने का खतरा, बंगाल-ओडिशा में देगा दस्तक

चक्रवाती तूफान यास  26 मई की सुबह भारतीय तट से टकराएगा.टकराने के दौरान साइक्लोन यास की रफ्तार 185 किलोमीटर प्रति घंटे तक रहने का अंदेशा है. यह 26 मई की सुबह ओडिशा के पारादीप और सागर आयरलैंड के बीच बालासोर के आसपास भारतीय तट को पास करेगा. इस चक्रवाती तूफान के दौरान समुद्र की लहरें 2 से 4 मीटर तक ऊंची रह सकती हैं. इससे सबसे ज्यादा नुकसान तटीय इलाकों में कच्चे घरों, एस्बेस्टस के घरों के साथ-साथ टेलीफोन और बिजली के खंभे पर होने की आशंका है.

इसकी वजह से तटीय इलाकों के पास सड़कें, रेल यातायात के साथ-साथ एयर ट्रैफिक और पोर्ट और शिपिंग ट्रैफिक भी बुरी तरह प्रभावित होगा.हमने सभी मछुआरों को चेतावनी दी है कि वह समुद्र में ना जाएं. हमने कोस्टल शिपिंग हाई सी में चलने वाले जहाजों और अंतरराष्ट्रीय पोतों के लिए भी अलग-अलग चेतावनी जारी की है.रेलवे ने साइक्लोन यास के कारण बिहार समेत कई राज्यों की 25 ट्रेनें रद्द कर दी हैं.

पूर्वी तटीय रेलवे (Eastern Coastal Railway) ने इसके लिए 25 ट्रेनों की एक सूची जारी की है, जिसमें ब्योरा है कि चक्रवाती तूफान यास के कारण कौन सी ट्रेन कब तक कैंसल (Trains Cancelled) रहेगी. रेलवे ने बिहार, असम, बंगाल, कर्नाटक औऱ तमिलनाडु समेत कई राज्यों की ट्रेनें रद्द की हैं. तूफान यास के कारण रेल यात्रियों को कोई परेशानी न हो, लिहाजा ट्रेनें को लेकर पहले ही शेड्यूल जारी किया गया है. जो ट्रेनें इन रूटों पर निर्धारित रेलवे टाइमटेबल (Railway Cancelled Trains List) के अनुसार चलने वाली हैं भी, उनके लिए भी रेल यात्रियों को शेड्यूल देखने के बाद ही घर से रेलवे स्टेशन रवाना होने की सलाह दी है. तूफान की वजह से कैंसल ट्रेनों की सूची नीचे दी गई है.

(Visited 109 times, 1 visits today)
Close